Backlink Kya hai?

Backlink Kya hai? Backlink ki puri jaankari

SEO

दोस्तों आज हम बात करने वाले है Backlink Kya hai? के बारे में की बैकलिंक्स होता क्या है, अगर आप एक ब्लॉगर है तो ब्लॉग्गिंग के सपने को सक्सेस बनाने के लिए हमे हर रोज कुछ न कुछ सीखना होता है इसलिए professional blogger अपने ब्लॉगर पर Easy Referral Traffic बनाते हैं।

ब्लॉग  के लिए Backlink की इम्पोर्टेंस बहुत ही होती है, Backlink SEO  में बहुत काम आता है और इसी से ही ब्लॉग की रैंकिंग इनक्रीस होती है, ब्लॉग की रैंकिंग इनक्रीस करने के लिए Backlink की जरुरत पड़ती है

आपके ब्लॉग में  do follow backlinks available होती है तो इससे आपके ब्लॉग पर अच्छा प्रभाव पड़ता है, इस पोस्ट में मै आपको Backlink Kya hai? और ये seo के लिए क्यों जरुरी है उसके बारे बताउगा,

सभी Professional blogger’s अपने साइट और ब्लॉग के लिए High quality backlink  बनाते है और इसे बनाने के लिए वो लोग हर एक रास्ते को सही तरीके से फॉलो करते है, Backlink को समझना कोई मुश्किल काम नहीं है अगर आप इस पोस्ट carefully read कर ले तो ये आपको Backlink Kya hai? समझ आ जायेगी इसलिये आप से request है की आप इस पोस्ट को carefully read करिये और पूरी जानकारी के बिना इसका use  मत करिये।

Backlink Kya hai?

दूसरे किसी साइट पर आपकी साइट का लिंक होता है जिस पर क्लिक करके विजिटर आपकी साइट पर आते है इसी लिंक को बैकलिंक्स कहते है, इस प्रोसेस से आपकी साइट पर जितने विजिटर आएंगे इन सब विजिटर को आपके साइट का टोटल बैकलिंक्स कहते हैं।

Backlinks SEO आपके साइट के लिए बहुत जरुरी होता है आपकी साइट दूसरे की साइट से बैकलिंक मिलता है इसका मतलब ये है की सर्च इंजन को ये मैसेज जाता है आपकी साइट और कंटेंट के लिए भरोसा करते है, जब एक साइट को अलग अलग वेबसाइट, ब्लॉग से बैकलिंक्स मिलता है तो सर्च इंजन उस वेबसाइट को एक अच्छा रैंक प्रदान करता है, बैकलिंक्स मिलाने वाली साइट पर पब्लिश होने वाले आर्टिकल्स को फर्स्ट priorty देता है जिससे नई आर्टिकल्स search engine में जल्दी index होता है या सर्च इंजन में टॉप रैंक मिल सकता है।

Backlinks Kitne Type Ke Hote Hai?

Blogging में सफलता प्राप्त करने के लिए हमे traffic होने चाहिए होते है और ट्रैफिक पाने के लिए हमे SEO टूल्स पर फोकस करना होगा, SEO का मेजर फैक्टर है बैकलिंक्स, बैकलिंक्स के no follow, do follow, internal links, anchor text, low quality, high quality जैसे टाइप है इन सब के बारे में हम step by step जानेंगे।

  • 1. No follow link: एक वेबसाइट दूसरी किसी वेबसाइट, ब्लॉग को लिंक करती है बैकलिंक्स करने के लिए no follow टैग का यूज़ होता है जिससे लिंक जूस पास नहीं होता क्योकि no follow backlinks का कोई यूज़ नहीं होता जिससे ये लिंक होने पर या न होने पर SEO में ट्रैफिक में कुछ भी इफ़ेक्ट नहीं होता।
  •  2. Do follow link:  एक वेबसाइट से दूसरी साइट को लिंक करती है जिसमे जूस पास होता है by डिफ़ॉल्ट ब्लॉग पोस्ट में ऐड होने वाली ऑल links do follow होती है, do follow links बैकलिंक्स में no follow का tag यूज़ नहीं होता।
  •  3. Internal link:  सेम वेबसाइट में एक पेज को दूसरे पेज को जो लिंक add करते है उसे internal link कहते है, internal link को यूज़ करना अच्छा होता है internal link करके आप एक आर्टिकल्स में दूसरे आर्टिकल्स को प्रमोट कर सकते है।
  • 4. Anchor text link Hyper:  लिंक ऐड करने के लिए जो वर्ड यूज़ करते है उसे anchor text कहते है, किसी specific कीवर्ड्स को रैंक करने के लिए anchor text का उसे किया जाता है।
  • 5. Low quality link:  स्पेम साइट,  ऑटोमेटेड साइट्स से मिलने वाले लिंक को low quality link कहते है, इस लिंक से मदद तो नहीं मिलती लेकिन इन लिंक्स के बाद impact पड़ता है इसलिए बैकलिंक्स बनाने के लिए high quality backlinks बनाना चाहिए।
  •  6. High quality link:  High साइट से मिलने वाली लिंक को high quality लिंक कहते है, हाई क्वालिटी लिंक SEO में सहायता करती है हाई क्वालिटी लिंक से रेफरल ट्रैफिक मिलता है जिससे सर्च रैंक और ट्रैफिक में इम्प्रूवमेंट होता है।

ये पोस्ट भी पढ़े

Apne Blog Ke Liye Quality Backlinks Kaise Banaye?

Backlink Kya hai? के बारे तो अब आप जान ही चुके होंगे और आपको ये भी पता चल गया होगा की ये आपके ब्लॉग और SEO के लिए कितना जरुरी होता है, अब आपके मन में ये सवाल उठ रहा होगा कैसे अपने साइट के लिए Quality backlinks  कैसे बनाए? चलिए अब जानते है की कैसे अपने साइट के लिए Quality backlinks बनाते है।

Submit Site In Web Directories  

Quality backlinks बनाने के लिए Web directories एक बढ़िया और फ्री रास्ता है, इसमें आप अपने साइट को सबमिट करके फ्री में बैकलिंक प्राप्त कर सकते है, अपने साइट के रैंकिंग के लिए जितना हो सके आपको backlinks बनानी चाइये और इसके लिए आपको अपने साइट को जितना हो सके Web directorie में Submit करना चहिये, जितना ज्यादा आप अपने साइट को Web directorie  में Submit करेंगे उतना ही ज्यादा आपकी ट्रैफिक भी इनक्रीस होगी, इंटरनेट में कम से काम 500 Web directories है आप सभी में अपने साइट को Submit करिये।

Guest Post

Guest Post भी Create backlink करना का एक फ्री Wey  है, अपने टॉपिक से रिलेटेड जितने भी Blogs है इंटरनेट में सर्च करिये और एक Fresh content  काम से काम 1000 वर्ड का Article उन साइट्स में पब्लिश करिये, ऐसे ब्लोग्स को टारगेट करिये जिनकी Popularity ज्यादा हो और जिनमे हर रोज ज्यादा से ज्यादा ट्रैफिक आती हो, कम से काम हर दिन एक ब्लॉग में गेस्ट पोस्ट जरुर करिये अगर आप 30 day  लगातार ऐसे Website में Guest Post करते रहे तो आपको बहुत अच्छा backlink मिलेगा और ट्रैफिक भी Increase होगी।

Comment

Blog के लिए backlink Create करने का ये सबसे अच्छा wey है, इसमें आपको दूसरे Quality blogs  में कमेंट करने होते है अगर आप Regular अपने ही nich (टॉपिक) वाले blogs  में Comment करते है तो उससे आपका Blog rank  होगा और backlink भी अच्छी मिलेगी पर ध्यान रहे ऐसे ही website और blogs  में Comment करे जो आपके ब्लॉग से रेवेलेंट हो अगर आप अपने से अलग किसी दूसरे टॉपिक वाले blogs पर Regular कमेंट करेंगे तो उससे आपका रैंक बढ़ने की जगह घट जायेगा इसलिये इसका आपको धयान रखना है,

Profile backlinks

Profile backlinks  वह होती है जहां हम अपना Profile बनाते हैं और अपने Profile में अपनी website का url डालते हैं Profile backlinks हमारे वेबसाइट के DA PA  को इनक्रीस करती है आप अपनी ब्लॉग या वेबसाइट के लिए Profile backlinks जरूर बनाएं आप इन वेबसाइट पर जाकर अपने Profile backlinks बना सकते हैं जैसे:

Myspace, WordPress, Disqus

हमारा सुझाव

Backlink Kya hai? के टिप्स में हमने जाना अपनी वेबसाइट के लिए High quality backlinks बनाना चाहिए, Search Engine के लिए Backlinks बहुत जरुरी होता है, Number of बैकलिंक्स ज्यादा महत्वपूर्ण नहीं होता बल्कि high quality, do follow बैकलिंक्स ज्यादा महत्वपूर्ण होता है, 500 low quality बैकलिंक्स बनाने से अच्छा है एक High quality बैकलिंक्स बनाना।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *