बिटकॉइन क्या है – Bitcoin Kya hai | बिटकॉइन कैसे खरीदें – Bitcoins meaning in hindi

बिटकॉइन क्या है – Bitcoin एक Crypto currency है।  Bitcoin का इस्तेमाल आजकल बहुत ज्यादा बढ़ गया है। यह आम करेंसी से अलग होती है। और इसके transactions को गुप्त रखा जा सकता है। हालांकि यह करेंसी कई देशों में अभी भी Illegal है। फिर भी लोग इस currency में transactions करना पसंद करते हैं। बहुत से लोग बिटकॉइन की Trading और बिटकॉइन की Mining करते हैं। इस पोस्ट में जानेंगे। कि बिटकॉइन क्या है? और कैसे काम करती है? Bitcoins meaning in hindi और बिटक्वाइन को कहां से खरीदा जा सकता हैं? या फिर बिटकॉइन कैसे खरीदें?

बिटकॉइन क्या है

बिटकॉइन क्या है? –  बीटकोइन दुनिया की पहली Crypto Currency है यह एक विकेंद्रीकृत डिजिटल करेंसी या Vartual Currency  है | आज के दिन Bitcoin दुनिया की सबसे मूल्यवान करेंसी है यह एक ऐसी ब्यवस्था है जिस पर किसी Bank, सरकार या किसी भी अथॉरिटी का कंट्रोल नहीं है | किसी भी देश की कोई भी करेंसी हो  उस पर उस देश का कंट्रोल होता है | यह एक peer to peer करेंसी है | इसको इन्टरनेट पर कम्पूटर द्वारा माइन किया जाता है | Bitcoin कंप्यूटर नेटवर्क से बनाया जाता है | 

बिटकॉइन क्या है

Bitcoin किसने बनाया यह अभी तक सही-सही कोई नही जानता है लेकिन यह अभी भी एक शोध का विषय है | कहा जाता है सातोशी नाकामोतो नाम के एक Software Developer ने सन 2009 में बीटकोइन बनाया था | उन्होंने एक नाम पोस्ट किया था सातोशी नाकामोतो जैसे रूपये या कॉइन होते है उसी तरह “सातोशी” भी बीटकोइन (BITCOIN) का एक यूनिट होता है | लेकिन आजतक इनको कोई भी नहीं जानता ये एक आदमी है या एक Organization है इस पर अभी भी शोध किया जा रहा है | कहा जाता है कि इसका जो कोड “सातोशी” बनाया गया बहुत ही Perfact तरीके से बनाया गया है इसमें बहुत कम गलतियाँ है जिसे आसानी से ठीक किया जा सकता है |

  1. आपके दिमाग पर एक सबाल तो आया ही होगा की Bitcoin kya hai, तो आपको बता दे यह एक डिजिटल और बिल्कुल नई मुद्रा है।
  2. Bitcoin का आविष्कार 2009 में एक अज्ञात व्यक्ति Satoshi Nakamoto के उपनाम पर बनाई थी।
  3. इस करेंसी Transactions के लिए किसीभी व्यक्तियों की आवश्यकता नहीं होती। आपकी जानकारी के लिए बता दू BITCOIN का कोई बैंक नहीं है, कोई Transaction fee नहीं है।
  4. इसलिए बहुत से लोग और व्यापारियों ने इसको स्वीकार किया है। और इसमें आपको अपना असली नाम देने की भी कोई जरुरत नहीं।
  5. आप इसके जरिए Web hosting services, pizza या online shopping सकते हैं।
  6. किसी को एक जगह से दूसरे जगह Money transfer भी कर सकते हैं।

BITCOIN WALLET क्या है?

Bitcoin को इलेक्ट्रॉनिक तौर पर यानि डिजिटल तौर पर स्टोर की जा सकती है | इसको रखने के लिए bitcoin wallet की जरुरत होती है | बीटकोइन वॉलेट जैसे- वेब बेस्ड वॉलेट(web-based wallet), मोबाइल वॉलेट और डेस्कटॉप वॉलेट आदि है | इनमें से किसी एक में अकाउंट बनाकर हमें एक यूनिक आईडी(unique id) प्राप्त होती है | इसे Digital Wallet भी कहा जाता है | इस Wallet के जरिये आप बीटकोइन की ट्रांजेक्‍शन आसानी से कर सकते हैं | जैसे- आपने यदि Bitcoin ख़रीदा तो आप उस Bitcoin को अपने वॉलेट में स्टोर कर सकते हैं | और Bitcoin को बेचने के बाद उसके बदले जो पैसे मिलेंगे उसे आसानी से Digital Wallet के जरिये बैंक अकाउंट में Transfer कर सकते हैं |

Bitcoin Mining कैसे किया जाता है?

यह एक डिजिटल डॉक्यूमेंट है | इसे जटिल कम्‍प्‍यूटर एल्गोरिथम्स और कम्‍प्‍यूटर पावर से इस करेंसी को निर्मित किया जाता है जिसे माइनिंग कहते हैं। इसके पीछे 2 key होती है एक key भेजने के लिए और एक key आपको recognize करने के लिए | इसमें गणित के जटिल सवाल होते है और लोटरी सिस्टम से इन गणित के सवालों को सोल्व करना होता है | जो इन सवालों को सोल्व करता है| उसको इनाम के तौर पर कुछ BITCOIN दिया जाता है | 

बीटकोइन ऑनलाइन खरीदा जाता है | इसका हरेक लेनदेन पब्लिक होता है | लेकिन इसमें बेचने वाले की और खरीदने वाले की पहचान गुप्त रहती है | और हर लेनदेन बही खाते में जमा होता है | जो इस बही खाता को मेंटेन करते हैं, उनको रिवॉर्ड के तौर या ट्रांजेक्‍शन कॉस्ट के तौर पर कुछ बीटकोइन दिया जाता है | इसे ट्रांजेक्‍शन कॉस्ट भी कहते है |

बिटकॉइन क्या है

टोटल कितने बीटकोइन(BITCOIN) हैं?

सातोशी नाकामोतो ने कुल 21 मिलियन यानि 2.1 करोड़ बीटकोइन बनाये हैं | ये 20 साल में 21 मिलियन(21million) बीटकोइन धीरे-धीरे रिलीज़ होंगे | इसका मतलब यह है कि बीटकोइन की पूर्ति लिमिटेड है | अभी तक मार्किट में कुल 15million यानि 1.5 करोड़ बीटकोइन आ चुके हैं | 2009 में इसकी कोई वैल्यू नही थी2011 में एक बीटकोइन की वैल्यू 1.5 से 2 डॉलर यानि लगभग 100 रूपये थी | आज इसकी वैल्यू लगभग 13000$ यानि लगभग 840000रूपये है | आप अंदाजा लगा सकते हैं की पिछले 6,7 सालों में इसकी ग्रोथ कितने गुना बढ़ी है | उदाहरण के लिये: यदि 2011 में आपने 1 बीटकोइन ख़रीदा होता तो आज उसकी वैल्यू 13000$ x 1$ = 13000$ यानि लगभग 840000इंडियन रूपये होती | 

क्या इसको बाजार में खरीदा जा सकता है? जवाब है हाँ ! इसका चलन दिन-प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है | कई बड़ी-बड़ी कंपनियां भी बीटकोइन से भुगतान लेती हैं | कई बड़े ब्यापारी भी बीटकोइन को अपना रहे हैं | दुनियां भर के  लोग बीटकोइन में निवेश कर रहे हैं |

Bitcoins meaning in hindi

  1. Bitcoin एक Virtual यानी की virtual currency  है अन्य करेंसी कि तरह इस करेंसी का कोई भौतिक स्वरूप नहीं है। यह डिजिटल करेंसी है। इस करेंसी को ना तो आप देख सकते हैं, और ना ही छू सकते हैं। यह केवल इलेक्ट्रॉनिक स्टोर होती है। अगर किसी के पास इलेक्ट्रॉनिक Bitcoin है।
  2. तो अन्य सामान्य मुद्रा की तरह ही इससे भी सामान को खरीदा जा सकता है। वर्तमान समय में Bitcoin काफी पॉपुलर हो रहा है। Bitcoin करेंसी का आविष्कार सतोषी नाकोमोतो नाम के एक इंजीनियर ने 2008 में किया था और 2009 में ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर के रूप में इसे जारी किया। >>> शेयर बाजार क्या है | Share Market in Hindi
  3. तब से लेकर अब तक इस में बहुत ज्यादा लोग जुड़ चुके हैं। लोग बिटकॉइन की ट्रेडिंग करते हैं। जैसे कि Sale of dollars, rupees, Europe, on the stock exchange  होती है। उसी प्रकार से लोग इस करेंसी को खरीदते और बेचते हैं। उन्हें कम कीमत पर खरीद कर और ऊंचे दामों पर बेच देते हैं। इसके लिए इसमें एक एक्सचेंज भी है। लेकिन उसका कोई औपचारिक रूप नहीं है। 

Bitcoin Interesting Facts in hindi

यह 3 जनवरी 200 9 को शुरू हुआ।यह बड़े कंप्यूटर नेटवर्क पर आपसी भुगतान के लिए एन्क्रिप्शन द्वारा संरक्षित एक नई मुद्रा है।

  • यह दुनिया की पहली पूरी तरह से खुली भुगतान व्यवस्था है
  • बिटकॉइन दुनिया की सबसे महंगी करंसी बन गई है।
  • इस डिजिटल करंसी को Digital wallet में रखा जाता है।
  • Complex computer algorithms और Computer power से इस मुद्रा का निर्माण किया जाता है जिसे बिटकॉइन माइनिंग कहते हैं।
  • Goldman Sachs और New York Stock Exchange  तक ने इसे बेहद तेज और कुशल तकनीक कहकर इसकी तारीफ की है।
  •  दुनिया में 1 करोड़ से ज्यादा की Bitcoin हैं, जिनकी 60 हजार करोड़ रूपए से जायदा हैं।

भारत में बिटकॉइन का भविष्य

भारतीय रिजर्व बैंक ने 24 दिसम्बर 2013 को बिटकॉइन(BITCOIN) जैसी वर्चुअल मुद्राओं के सम्बन्ध में एक प्रेस विज्ञप्ति जारी की थी। रिजर्व बैंक ने कहा था कि इन करेंसीज के लेन-देन को कोई अधिकारिक अनुमति नहीं दी गयी है और इसके लेन-देन में बहुत जोखिम है। कई विशेषज्ञों ने इसे एक पोंज़ी स्कीम माना है | वही वारेन वफे का मानना है कि यह एक धोखा है | इसलिए bitcoin में निवेश सोच-समझकर करें |

बिट कॉइन क्या है

बिटकॉइन एक Digital Currency हैं, Bitcoin का आविष्कार 2009 में हुआ था। BITCOIN का कोई बैंक नहीं है इसलिए Transactions के लिए कोई व्यक्तियों की आवश्यकता नहीं होती है।

बिटकॉइन कैसे खरीदें

अगर आपको Bitcoin खरीदना है तो आप Wazirx, Unocoin, Zebpay, Coinbox, BTCxIndia, LocalBitcoin इन Website पे जाकर खरीद सकते हैं

भारत में बिटकॉइन का भविष्य

भारतीयों रिजर्व बैंक ने इन Currency पर लेन-देन की कोई अधिकारिक अनुमति नहीं दी गयी है इसलिए लेन-देन में बहुत जोखिम है, तो सोच-समझकर कर Bitcoin में निवेश करे

Spread the love

Leave a Comment