क्रिप्टोकरेंसी क्या है? कैसे इस्तेमाल किया जाता है | Crypto Meaning in Hindi

क्रिप्टोकरेंसी क्या है? यह सवाल आपके मन में कभी न कभी आया ही होगा। आज हम इस पोस्ट में चर्चा करने वाले है क्रिप्टोकरेंसी के बारे में, और जानने वाले है की आखिर Cryptocurrency kya hai?, यह एक ऐसी करेंसी है, जो पूरी तरह से Digital है। आज कल बहुत सारे लोग Cryptocurrency के जरिये लाखों रुपयें कमा रहे है, और कैसे आप भी Cryptocurrency से लाखों रुपया कमा सकते हैं उन सभी सवालों का जवाब दिया गया है इस पोस्ट में।

Crypto Meaning in Hindi

जिस तरह America के पास डॉलर है और Soudi Arabia के पास रियाल है उसी तरह भारत के पास भी रूपया है। इसी तरह हर देश के पास अपना खुदका Currency यानि (मुद्रा) है। Currency एक ऐसी धन-प्रणाली है, जिसे किसी न किसी देश द्वारा मान्यता प्राप्त किया है और वहाँपे लोग इस धन के माध्यम मै इस्तेमाल किया जा रहा है । आजकल के डिजिटल दुनिया में करेंसी ने भी डिजिटल रूप ले लिया है, और इसी डिजिटल करंसी को क्रिप्टो करेंसी कहा जाता है।

हमारे पास जो Currency है, वो किसी कागज या फिर धातु के टुकड़ों पर Print किया जाता है। इस Currency को पर्स में लेकर घूम सकते है इसीलिए यह एक Physical Currency है। लेकिन Cryptocurrency पूरी तरह से अलग है, इस करंसी को आप रुपयों की तरह हाथ में नहीं ले सकते और अपने जेब में भी नहीं रख सकते, इसलिए आप इसे आनलाइन करेंसी भी कह सकते हो। क्रिप्टो करेंसी ने अभीतक कोई सिक्के या नोट Lunch नहीं किया है। यह हमारे Digital Wallet पर रहता है 100% सेफ और सुरक्षित।

यहाँ भी पड़े : बिटकॉइन क्या है – Bitcoin Kya hai | बिटकॉइन कैसे खरीदें – Bitcoins meaning in hindi

Cryptocurrency क्या है?

आज का सवाल Cryptocurrency क्या है? यह एक ऐसा Digital Currency है जिसका रियल दुनियां में कोई वजूद ही नहीं है। लेकिन हम डिजिटल दुनियां की बात करें तो Cryptocurrency एक बहुत ही बड़ा नाम है | यह करेंसी Peer to peer Network Based पर काम करता है, इसलिए Cryptocurrency का इस्तेमाल दुनियां के अधिकतक देशों में किया जाता है | एक वात मै कहूं तो यह एक वर्चुअल करेंसी है, जो सिर्फ इन्टरनेट पर ही मौजूद होता है | Cryptocurrency का कोई फिजिकल रूप नहीं है, लेकिन Cryptocurrency से हम ऑनलाइन कुछ भी खरीद सकते है, जैसे की ऑनलाइन शोपिंग करते है।

क्रिप्टोकरेंसी क्या है
क्रिप्टोकरेंसी क्या है

Cryptocurrency का अविष्कार 2009 में हुआ था और तब ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर के रूप में इसे जारी किया गया था।, उसके बाद धीरे-धीरे पोपुलर होता गया, आज पूरी दुनियां में इसका इस्तेमाल हो रहा है | आने वाले समय Cryptocurrency का होने वाला है, क्योकि आज पूरी दुनियां में सभी बड़ी से बड़ी कंपनियां क्रिप्टोकरेंसी के पीछे भाग रही है | आज कुछ ही दिनों पहले टेस्ला कंपनी के मालिक ने घोषणा किया जिसमे उन्होंने बताया, वे क्रिप्टोकरेंसी को एक्सेप्ट करेंगे | इन सभी के अलावा दुनियां में बहुत सारी ऐसी बड़ी कंपनियां है जो क्रिप्टोकरेंसी को एक्सेप्ट करने के लिए घोषणा कर चुकी है |

Cryptocurrency कैसे काम करती है?

आज क्रिप्टोकरेंसी इतना Secure है उसकी वजह है Blockchain Technology। यह Technology पूरी तरह से लेन-देन का रिकॉर्ड को Process करती है। यह टेक्नोलॉजी Powerful Computers द्वारा निगरानी किया करते है, और उसीसे Crypto Mining होता है। यो भी Mining करते है उन्हें Miners कहा जाता है। जब Cryptocurrency से कोई भी Transaction करते है, इन सभी जानकारी को Blockchain Technology में Add हो जाती है।

Security और Encryption जैसा सभी काम Miners द्वारा किया जाता है। यह Block के लिए सही hash (यानि एक कोड) को ढूँढते हैं, और माइनर जब सही hash ढूँढ़के Block को सुरक्षित करता है तब उसे Blockchain में जोड़ा जाता है। इस दौरान Network में मौजूद सभी Nodes (Computers) द्वारा Verify करते है और यह प्रोसेस Consensus के नाम से जाने जाते है। यब Consensus में Block को Secure होने की Confirmation होती है और यदि सही पाया जाता है तो उस Miner को Crypto coins दिए जाते हैं। असल मैं यह एक Reward होता है।

Cryptocurrency को कौन कण्ट्रोल करता है?

Cryptocurrency से होने वाला पेमेंट कंप्यूटर के द्वारा होता है। दोस्तो ये तो आप जानते ही हैं कि हमारे इंडियन रुपये और इसी तरह यूरो और डॉलर जैसी करेंसीज पर Government का पूरा कंट्रोल होता है। लेकिन Bitcoin जैसी क्रिप्टो करंसी पर ऐसा कोई कंट्रोल नहीं होता है। इस Digital Currency पर गवर्नमेंट अथॉरिटी जैसे की Central Bank या किसी देश और Agency का कोई कंट्रोल नहीं होता है। यानी बिटकॉइन ट्रेडिशनल बैंकिंग सिस्टम को फॉलो नहीं करती, बल्कि Wallet से दूसरे Wallet तक ट्रांसफर होता रहता है।

Popular Cryptocurrencies in India

क्रिप्टोकरेंसी क्या है? इस सवाल पर सबसे पहला नाम आता है Bitcoin का। हालाकि इस दुनिया मै Bitcoin के अलावा भी हजारों Cryptocurrencies हैं। उन Cryptocurrency के बारे में ज्यादातर लोगों को मालूम नहीं है। निचे कुछ Popular Cryptocurrencies के बारे में चर्चा किया है –

Bitcoin (BTC): Bitcoin पुरे दुनिया मैं सबसे ज्यादा पॉपुलर Cryptocurrency है । Bitcoin का आबिस्कार 2009 में हुआ था । इससे पहले भी कई कोशिशें हुई Digital Currencies को लेकर पर सफल नहीं हो पाई। शुरुआत के दिनों मै Bitcoin को काफी संघर्ष करना पड़ा, लेकिन आज यह दुनिया की सफल और सबसे महंगी Currency बन चुकी है।

Ethereum (ETH): Ethereum एक Decentralized ओपन-सॉर्स प्रोग्राम है जो Blockchain Technology पर काम करता है । इस करेंसी को 2015 में लॉन्च किया था और आज Ethereum दुनिया का सबसे ज्यादा Actively Used Blockchain Network बन चूका है। Coin market के हिसाब से दूसरी सबसे बड़ी Cryptocurrency है Ethereum।

Ripple (XRP): इस करेंसी को 2012 में अमरीकी कंपनी Ripple Labs Inc. ने बनाया था। यह भी Blockchain Network पर आधारित है और यह एक Cryptocurrency Exchange भी है।

Tether (USDT): Tether को Stable Coin भी कहा जाता है, इसकी शुरूआत 2014 में Real coin के नाम से हुई थी। वादमे इसका नाम बदलकर Tether रख दिया और तभीसे Tether के नाम से ही जाने जाते है।

Litecoin (LTC): Litecoin की शुरुआत 2011 में हुई थी, यह एक peer-to-peer क्रिप्टोकोर्रेंसी है। यह करेंसी अपने Proof of Work Algorithm में SHA-२५६ की बजाय Scrypt का इस्तेमाल करते है।

Monero (XMR): मोनेरो Cryptocurrency मूल रूप से Privacy और Decentralization पर काम करती है। यह अपने Security Features के लिए जाने जाते है। लेकिन इसका इस्तेमाल ज्यादातर Dark Web पर होता है।

Cosmos (ATOM): यह Blockchain Networks को आपस में जोड़ने का काम करता है। इस Currency का उद्देश्य है Blockchains के बीच Communication, Data Sharing और Transaction में मदद करती है।

Peercoin (PPC): Peercoin एक peer-to-peer cryptocurrency है जिसे PP Coin, P2P Coin, PPC भी कहते है । यह करेंसी Bitcoin Framework पर आधारित है। इस करेंसी को 2012 में लॉन्च किया था, और यह Proof of Work, Proof of Stack का Combination Use करते है।

BitTorrent (BTT): इस Cryptocurrency को Tron Foundation ने बनाया था। Blockchain Technology पर आधारित यह एक peer-to-peer file sharing protocol है। इस Currency का उद्देश्य Untrusting Process Participants के बीच File Transfer को सहज करना। बहुत सारे यूजर्स BitTorrent Token (BTT) कमा रहे हैं और उन्हें Fiat Money में बदल रहे हैं।

NameCoin (NMC): आमतौर पर यह करेंसी Bitcoin पर आधारित है। और यह proof-of-work algorithm का उपयोग करता है। इस Currency की सबसे बड़ी खासियत यह है इसका Domain Name जो की .bit है। बाकि Domain की तरह यह भी Top-Level Domain है।

Cryptocurrency क्यों खरीदना चाहिए 

यदि आपको क्रिप्टोकरेंसी में सम्पूर्ण नॉलेज है तो आपको बिटकॉइन में Invest जरुर करना चाहिए, क्योकि इसके बहुत सारे लाभ है | Bitcoin की प्राइस बीते कुछ वर्षों में भारत में 250 गुना से भी ज्यादा बढ़ा है, एक समय था जब भारत में 1 बिटकॉइन की कीमत मात्र 30 हजार के आस पास होती थी, परन्तु आज भारत में 1 बिटकॉइन की कीमत लाखों रुपया है |

क्रिप्टोकरेंसी क्या है
क्रिप्टोकरेंसी क्या है

दुनियां के बड़े बड़े इन्वेस्टर Cryptocurrency जैसे बिटकॉइन में इन्वेस्ट कर रहे है, क्योकि आने वाले समय में Cryptocurrency का डिमांड बढ़ने वाला है, रिपोर्ट के अनुसार आने वाले समय में Cryptocurrency की प्राइस और भी ज्यादा बढ़ने वाली है | यदि आप एक Inverters के रूप में अपने करियर को बनना चाहते है तो शेयर मार्केट के साथ साथ Bitcoin जैसे क्रिप्टोकरेंसी में इन्वेस्ट कर सकते है|

कोई भी व्यक्ति Bitcoin में Invest करता है, बाद में चलकर बिटकॉइन की कीमत बढ़ जाती है तो उसके बहुत ज्यादा लाभ होगा |

Cryptocurrency को इस्तेमाल कैसे करते है

जैसे हमलोग Paytm Wallet में मौजूद पैसों का इस्तेमाल किसी भी Online transaction के लिए किया करते है, वैसे ही Cryptocurrency जो की एक डिजिटल करेंसी है, इसके इस्तेमाल से हम किसी भी प्रकार के ऑनलाइन Transaction कर सकते है |

इसको एक उधाहरण से समझे तो आज बहुत सारी बड़ी बड़ी कंपनियां अपनी आपसी भुगतान Cryptocurrency के माध्यम से करती है | टेस्ला के CEO एलोन मस्क ने फरवरी 2021 में Cryptocurrency में ऐतिहासिक $ 1.5 बिलियन के निवेश की घोषणा की, जो कंपनी के 19.4 बिलियन डॉलर नकद और तरल संपत्ति का 8% है।

आप में से बहुत सारे लोगों ने बर्गर किंग का नाम तो सुना ही होगा, इन्होंने वर्ष 2020 में विभिन्न प्रकार के Cryptocurrency Adopt करने की घोषणा की है, जिसमे Bitcoin जैसे Cryptocurrency भी मौजूद है, इन सभी के अलवा दुनियां की बहुत सारी कंपनियां जैसे Microsoft, Coca-cola, BMW, PayPal इत्यादी जो Bitcoin जैसे क्रिप्टोकरेंसी Adopt करने की घोषणा कर चुके है |

Cryptocurrency के फायदे

आप क्यों इस्तेमाल करेंगे क्रिप्टोकरेंसी? – यदि हमे कुछ फ़ायदा न मिले। ऐसेमे आपको बताना चाहूँगा कि क्रिप्टोकरेंसी इस्तेमाल करने का एक नहीं बल्कि बहुत सारे फायदें है,। निचे हमने चर्चा किया है इसके क्या-क्या फायदे हैं:

  • यह एक Digital Currency है, इसके माध्यम से हम सुरक्षित लेनदेन कर सकते है और Fraud की सम्भावना बहुत कम है।
  • क्रिप्टोकरेंसी हमे Digital Wallets की सुबिधा देती है, इसलिए Cryptocurrency को खरीदना, बेचना और Invest करना बहुत आसान हो गया है।
  • क्रिप्टोकरेंसी का इस्तेमाल करने के लिए Bank जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी आप घर बैठे Transition कर सकते हो।
  • Cryprocurrency बहुत Secure है इसलिए Cryptocurrency को कभी हैक नहीं किया जा सकता |
  • अगर Investment की वात करूँ तो क्रिप्टोकरेंसी बहुत ही अच्छा विकल्प है। कुछ वर्षों में क्रिप्टोकरेंसी की लगातार ग्रोथ हुआ है, आज 1 Bitcoin के Rate 18 लाख रुपया से भी ज्यादा है | सबसे महत्यपूर्ण बात Cryptocurrency की प्राइस में कम और ज्यादा होती रहती है।
  • Cryptocurrency पर किसी भी प्रकार के बैंक या कंपनी का अधिकार नहीं होता है, इसलिए Cryptocurrency के माध्यम से गुप्त व सुरक्षित लेनदेन कर सकते है, और कोई उसे ट्रेस भी नहीं कर सकते है | यानि आप कहाँ Cryptocurrency से किसी पैसा भेज रहे है किसी के पास भी उसकी विवरण नहीं होगी |

Cryptocurrency के नुकसान

Cryptocurrency इस्तेमाल करने के फायदे के साथ साथ कुछ नुकसान भी हैं। आपको यह जानना जरुरी है यदि आप Cryptocurrency मैं Invest करना चाहते हो । आइए, चर्चा करते हैं नुकसानों के बारे में –

  • Cryptocurrency पर किसी सरकार या किसी रेगुलेटर का नियत्रण नही है, इसलिए ये और भी जोखीम भरा है, इसलिए यदि आप Cryptocurrency से Transition करते हो और आपके साथ कोई फ्रौड हो जाता है, तो स्तिथि में आपका कोई भी मदद नहीं कर सकता है।
  • जैसा की Cryptocurrency हमारे इन्टरनेट पर मौजूद है, इसलिए हैकिंग जैसे जोखिम बहुत ज्यादा है। हालाकि Hack होने का बहुत कम संभावना हैं लेकिन Ethereum के साथ ऐसा हुआ है।
  • भारत सरकार ने अभी तक बिटकॉइन को किसी भी प्रकार का मान्यता नहीं दिया है। हमारे भारतबर्ष मै RBI कहता है की हम इस तरह के पेमेंट का कोई गारंटी नहीं लेते है, इसलिए धोखा धडी होने पर आप कुछ नहीं कर सकते है।
  • Cryptocurrency के सबसे बड़ा नुकसान यह है की Cryptocurrency के पीछे कोई संस्था काम नहीं कर रही है इसलिए इसको ट्रैक नहीं किया जा सकता है, और Transaction का पता लगाना मुश्किल है, ऐसे में Cryptocurrency का इस्तेमाल गलत तरीकें से किया जा सकता है।
  • Cryptocurrency में Invest करना बहुत ही जोखीम भरा है, किउंकि इसके पीछे कोई अथॉरिटी काम नहीं करती है, इसकी कीमत में कभी भी गिरावट हो सकता है।

क्या भारत में Cryptocurrency Legal है?

सभी देशो में अलग-अलग स्थिति है कुछ देशो ने पूरी तरह से Illegal है और कुछ देशो मैं यह Legal है। इस बजह से एक-दो साल के अंदर लोकप्रियता और स्वीकार्यता दोनों मै बढ़ोती मिली। अभी का सवाल है क्या भारत में क्रिप्टोकरेंसी Legal है? आपकी जानकारी के लिए बता दूं – हाँ 100% लीगल है । इंडिया में एक समय Cryptocurrency को बैन कर दिया था। उसके बाद IMAI ने सुप्रीम कोर्ट गया था, और फिर सुप्रीम कोर्ट के द्वारा इंडिया में क्रिप्टोकरेंसी को फिर से शुरू कर दिया गया है और अब क्रिप्टोकरेंसी पूरी तरह लीगल है।

Conclusion

आजका मुख्या टॉपिक Cryptocurrency Kya Hai? हम आशा करते है की आपको इससे जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी मिली होगी। अगर यह आर्टिकल आपको पसंद आया तो इसे Like और Share कीजिए दोस्तों के साथ । और ऐसे ही और लेख पड़ने लिए HindiTipsGuru को Bookmark कर लीजिए। ताकि जब भी हम कोई नया पोस्ट पब्लिश करें, आपको उसकी सूचना मिल जाए।

क्रिप्टोकरेंसी क्या है?

क्रिप्टोकरेंसी Blockchain Technology पर आधारित एक Digital Currency है। यदि आप Cryptocurrency के बारे में पूरी डिटेल में समझना चाहते है तो उसके लिए हमने अपने ब्लॉग पर पहले से ही पोस्ट पब्लिश किया जिसका लिंक निचे दिया गया है, आप उसे पढ़ सकते है |

क्या मुझे क्रिप्टोकरेंसी में इन्वेस्ट करना चाहियें?

आपको क्रिप्टोकरेंसी में तभी इन्वेस्टमेंट करना है, जब आपको उसके बारे में पूरी जानकारी हो, यदि आपको पूरी जानकारी नहीं तो कभी भी इन्वेस्ट करने से पहले पूरी जानकारी जरुर लें |

क्या भारत में क्रिप्टोकरेंसी लीगल है?

भारत में किसी भी प्रकार के Cryptocurrency को खरीदना और बेचना illegal है, लेकिन कोई भी व्यक्ति Cryptocurrency में अपने पैसों को इन्वेस्ट कर सकता है |

भारत की क्रिप्टोकरेंसी क्या है?

अभीतक भारत में कोई भी क्रिप्टोकरेंसी नहीं है।

भारत में क्रिप्टोकरेंसी कैसे खरीदें?

Cryptocurrency खरीदने के लिए आपको WazirX, CoinDCX या फिर CoinSwitch Kuber जैसे Apps को डाउनलोड करना होगा। और उसके बाद Online KYC करने के लिए ID सबमिट करना होगा और फिर Approval मिलने के बाद आप अपने Wallet मेंं पैसा जमा करके अपनी पसंदिता क्रिप्टोकरेंसी खरीद लीजिए।

Spread the love

Leave a Comment