सबसे ज्यादा रन बनाने वाली महिला खिलाड़ी कौन है | Hindi Me

सबसे ज्यादा रन बनाने वाली महिला खिलाड़ी कौन है – इसके बारे में ज्यादातर लोग नहीं जानते, किउंकि हम सब बेस्त हैं पुरुष खिलाड़ी को लेकर । आज इस लेख मैं हम जानेंगे सबसे ज्यादा रन बनाने वाली महिला खिलाड़ी कौन है? और क्या हैं उसका परिचय ।

आपकी जानकारी के लिए बतादूं यह एक ऐसी महिला खिलाड़ी है, जिन्होंने अपनी शानदार बल्लेबाजी से बहुत से पुरुष खिलाड़ी को पीछे कर दिया है। इन्होने अपनी तूफानी बल्लेबाजी से अपनी टीम को ऊंचाई पर खड़ा किया है, तो आइये जानते है उस महिला खिलाड़ी का नाम और उनसे जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां।

सबसे ज्यादा रन बनाने वाली महिला खिलाड़ी

सबसे ज्यादा रन बनाने वाली महिला खिलाड़ी

भारतबर्ष के सबसे ज्यादा रन बनाने वाली महिला खिलाड़ी जिन्होंने बहुत से रिकॉर्ड को तोर दिया हैं, और उसका नाम हैं मिताली राज। महिला क्रिकेट टीम की कप्तान मिताली राज ने One Day मैच पर सबसे ज्यादा रन बनाया है। 2022 के डाटा अनुसार मिताली राज ने 333 परियों खेलकर कुल 10,868 रन बनाये है, जिसमे 8 शतक और 85 अर्धशतक शामिल है।

मिताली राज ने पूर्व कप्तान बेलिंडा क्लार्क का रिकॉर्ड तोड़ कर सबसे ज्यादा बार कप्तान बनने का रिकॉर्ड किया है। मिताली राज भारत की ऐसी महिला खिलाड़ी है जिन्होंने 24वीं बार कप्तान के रूप में महिला World Cup में उतरी है। मिताली राज 155 मैचों में कप्तान रह चुकी है, और उसमे 89 मैच को भारत ने जीता, 63 मैच पर हार देखने मिला।

मिताली ने वनडे पर 5,000 रन पार करने वाली दूसरी महिला क्रिकेटर हैं। 16 नवंबर, 2018 भारत के टी20 रन बनाने वाले शीर्ष खिलाड़ियों की सूची में मिताली राज का नाम सबसे पहले आता है।

Mithali Raj Biography in Hindi | मिताली राज का जीवन परिचय

मिताली राज बहुत छोटी उम्र से ही अपनी प्रतिभा, लगन के दम पर भारतीय महिला क्रिकेट में अपना स्थान बनाया है और हमारी आने वाली पीढ़ी की बालिकाओं के लिए एक प्रेरणा बन गए हैं । भारतीय क्रिकेट में उन्हें लेडी सचिन भी कहा जाता है। मिताली राज का जन्म 3 दिसंबर 1982 को हुआ था, उसे लेडी सचिन भी कहा जाता है। वे भारतीय महिला क्रिकेट टीम की वो अंग हैं जिसको अलग नहीं कर सकते। हालही मैं वो सबसे ज्यादा रन बनाने वाली महिला खिलाड़ी बन गया है।

सबसे ज्यादा रन बनाने वाली महिला खिलाड़ी

मिताली राज क्रिकेट से पहले, जीवित किंवदंती नृत्य में थी और भरतनाट्यम का अभ्यास करती थी। वह अपने नृत्य को अपने जुनून के रूप में अपनाने के साथ-साथ सिविल सेवाओं में अपना करियर बनाना चाहती थी। हालाँकि, उनके पिता एक अधिकारी होने के नाते चाहते थे कि वह अधिक अनुशासित और सक्रिय रहें और इस तरह क्रिकेट का चयन हुआ। यकीन करना मुश्किल है पर यह सच है की मिताली राज ने अपने माता-पिता को खुश करने के लिए क्रिकेट खेला था और आगे जाकर Career बन गयी।

मिताली राज ने भारत की महिला क्रिकेट और महिलाओं के लिए जो किया है जिनको सब्दो मैं बयां नहीं कर सकता। उन्होंने महिलाओं को सिखाया कि हमें किसीपर Depend नहीं होना चाहिए, हमें अपनी पहचान खुद बनानी चाहिए। वह लगभग दो दशकों से भारत की महिला क्रिकेट टीम पर क्रिकेट खेल रही हैं, और एक सफल कप्तान के रूप में 2005 और 2017 दोबार विश्वकप मै फाइनल तक पहुंचाये थे ।

Mithali Raj Education & Career

मिताली राज एक जनप्रियो महिला क्रिकेटर है जो भारत के लिए खेलती है। मिताली की प्रारम्भिक शिक्षा सुरु हुई हैदराबाद में, जहा उनके पिता Transfer होकर आये थे, और हैदराबाद के सेंट जॉन स्कूल से हाई स्कूल मै पढ़ाई की । उसके बाद कस्तूरबा गाँधी जूनियर कॉलेज फॉर विमेन से इंटरमीडिएट की शिक्षा पूरी किया । अपने बड़े भाई मिथुन के साथ क्रिकेट की ट्रेनिंग Start किया सेंट जॉन स्कूल में, उनके भाई क्रिकेट की प्रैक्टिस किया करते थे, वहाँपर अपने भाई के साथ प्रैक्टिस किया करते थे ।

सेंट जॉन क्रिकेट अकादमी के कोच ज्योति प्रसाद ने मिताली की ट्रेनिंग के दौरान उनकी प्रतिभाओं को पहचाना और उसके पिता को कहा आपकी बेटी हमारी देश के लिए क्रिकेट खेलेगी और आप इसे किसी अच्छे संस्थान से ट्रेनिंग दिलाएं। मिताली की पिता ने कोच संपत कुमार के गर्ल्स क्रिकेट स्पोर्ट्स क्लब में एडमिशन कर दिया । कोच संपत कुमार ने मिताली में क्रिकेट खेलने की जूनून को देखा और उनमे छुपी अद्भुत प्रतिभा को पहचाना। कोच संपत कुमार मिताली के माता-पिता को कहा कि मैं इसे तैयार करना चाहता हूं महिला क्रिकेट टीम के लिए । मिताली के माता-पिता को यकीन दिलाया कि आपकी बेटी में ऐसी प्रतिभा है कि वह देश के लिए खेलकर अपने देश का नाम रौशन करेगा, और मैं इस लड़की को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर ले जाने की जिम्मेदारी लेता हूँ।

एक सफल क्रिकेटार बनने के लिए उनके माता -पिता ने साथ दिया,और कोच ने भी मेहनत की कोई कसर नहीं छोड़ी, मिताली को जी जान लगाकर मेहनत करायी। क्रिकेट की प्रैक्टिस करने के लिए दिल्ली जाना पड़ता था, कड़ी मेहनत के बाद राज्य स्तरीय सब-जूनियर्स टूर्नामेंट में मिताली का Selection हुआ, और उस समय मिताली 9 साल की थीं । मिताली इस टूर्नामेंट पर खेलने वाली सबसे कम उम्र की Players थीं, और इस दौरान अपने घर से 2000 किमी दूर जालंधर में पहला मैच खेला । उनकी भारतीय महिला क्रिकेट टीम में Selection हुई थी जब वे 17 वर्ष की थी ।

Mithali Raj Award

भारत सरकार द्वारा 2003 में अर्जुन पुरस्कार से भी सम्मानित किया था मिताली राज को। एक भारतीय वायु सेना अधिकारी की बेटी हैं मिताली राज। जिन्होंने 10 साल की उम्र से क्रिकेट खेलना शुरू किया और 17 साल की उम्र में डेब्यू किया आयरलैंड के खिलाफ और आज 2022 मैं सबसे ज्यादा रन बनाने वाली महिला खिलाड़ी है ।

सबसे ज्यादा रन बनाने वाली महिला खिलाड़ी

2015 साल मिताली राज के लिए एक यादगार साल रहा । उसको पद्म श्री पुरस्कार से सम्मानित किया गया था और साथ साथ इंडिया क्रिकेटर ऑफ द ईयर जीतने वाली पहली महिला क्रिकेटर बनीं थी ।

यहाँ भी पड़े : कहानी लिखने के नियम क्या है – Hindi Main Jane

सचिन तेंदुलकर और मिताली राज के बीच समानताएं

मिताली राज एक बेहतरीन क्रिकेटर हैं इसमें कोई सक नहीं । महिला क्रिकेट में उसके द्वारा बनाए गए रनों के लिए वास्तव में ‘सम्मानित’ है, लेकिन केवल कुछ ही उसे देखते हैं और शायद ही कोई उसे ‘प्यार’ करता है जिस तरह से वे सचिन से प्यार करते हैं। आप उसे विशेष रूप से दोष नहीं दे सकते क्योंकि महिला क्रिकेट पुरुष क्रिकेट जितना लोकप्रिय नहीं है।

सचिन तेंदुलकर और मिताली राज की समानताएं –

  • सचिन तेंदुलकर और मिताली राज दोनों पुरुषों और महिलाओं के बीच भारत के लिए सबसे महान बल्लेबाज हैं।
  • सचिन तेंदुलकर और मिताली राज दोनों दाएं हाथ के बल्लेबाज हैं।
  • सचिन तेंदुलकर और मिताली राज दोनों बॉलिंग राइट आर्म लेग ब्रेक।
  • टेस्ट में दोनों की पसंदीदा बल्लेबाजी स्थिति नंबर 4 है।
  • सचिन तेंदुलकर और मिताली राज दोनों ने एक ही उम्र यानि 16 साल और 205 दिन से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में भारत के लिए डेब्यू किया।
सबसे ज्यादा रन बनाने वाली महिला खिलाड़ी
  • सचिन पुरुष क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी हैं और महिलाओं में मिताली राज ।
  • पुरुषों में सचिन और महिलाओं में मिताली के पास सबसे ज्यादा One Day caps हैं।
  • पुरुषों में सचिन और महिलाओं में मिताली राज के नाम पर सबसे ज्यादा One Day रन हैं।
  • सचिन का पुरुषों में सबसे लंबा अंतरराष्ट्रीय करियर (24 साल) और महिलाओं में मिताली (22 साल और गिनती) में है।
  • टेस्ट में सचिन का करियर सबसे लंबा और पुरुषों में ओडिसी, महिलाओं में मिताली का करियर है।
  • सचिन तेंदुलकर और मिताली राज दोनों के One Day करियर में सबसे ज्यादा 90 का दशक है।
  • सचिन तेंदुलकर और मिताली राज दोनों ने One Day मैच पर सबसे ज्यादा अर्धशतक लगाया है।

Facts about Mithali Raj

  • एकदिवसीय क्रिकेट में शतक बनाने वाली सबसे कम उम्र की बल्लेबाज जिन्होंने 16 साल की उम्र में अपने वनडे डेब्यू पर 114* रन की शतकीय पारी खेली। साथ ही वह डेब्यू पर शतक बनाने वाली 5 महिलाओं में से एक हैं।
  • मिताली राज One Day में लगातार सात अर्द्धशतक बनाने वाली पहली बल्लेबाज हैं।
  • 2002 के विश्वकप के दौरान मिताली राज को टाइफाइड हुआ था, इसलिए भारत को कप उठाने का मौका छूट गयी थी । फिर 2005 में उनकी कप्तानी से भारत मैच हारने के बावजूद फाइनल में गयी थी। मिताली राज की कप्तानी जितनी तारीफ करूँ कम है।

वनडे मैच में High-Score करने वाली महिला कौन है?

वनडे मैच में हाई -स्कोर करने वाली महिला है Deepti Sharma जिन्होंने 188 रन किया है 160 बॉल पर

वनडे में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाली पहली महिला क्रिकेटर कौन है?

वनडे में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाली पहली महिला क्रिकेटर है भारतीय तेज गेंदबाज झूलन गोस्वामी जिन्होंने 250 से ज्यादा विकेट ले चूका है

Spread the love

Leave a Comment